There was an error in this gadget

Thursday, April 15, 2010

'आपके पत्र '
अंदरूनी सुन्दरता ही सच्चा सौंदर्य है !
"सुन्दरता वास्तव में विचारो की अभिव्यक्ति है !आपके विचार ही आपको सुन्दर बनाते है !माय लेडी के पिछले अंक के 'सिखाती है जिन्दगी ' के अंतर्गत आपने 'तुम अब भी सुन्दर हो ' कहानी से सौंदर्य का वास्तविक अर्थ समझाया ! इस कहानी को प्रकाशित करना संपादक जी की महान सोच दर्शाती है व 'माय लेडी' की अंदरूनी सोच की झलक दिखाती है ! "
श्याम दांगी
मोरटा केवडी, जिला -शाजापुर

No comments:

Post a Comment