There was an error in this gadget

Thursday, April 15, 2010

ओबामा नहीं, गाँधी रोकेंगे एटमी प्रहार !
"गाँधी अहिंसा के पुजारी थे !वे कहते थे ,की हर आदमी एक दुसरे से प्रेम करे एक दुसरे के प्रति विश्वास रखे !जबकि अमेरिकी नीति कहती है की एक मुल्क दुसरे मुल्क पर प्रहार करे एक आदमी दुसरे आदमी को पीठ पीछे से छुरा घोंपे !ओबामा इस अमेरिकी नीति के निर्माता नहीं , लेकिन संरक्षक जरुर है !"

वांशिगटन में बराक ओबामा की अगुवाई में दुनिया भर के नेता वैश्विक सुरक्षा के लिए सर्वाधिक खतरे पर विचार कर रहे है , लेकिन यह विचार करने का समय नहीं है ,लेकिन इस कम को अंजाम देने का समय है !

No comments:

Post a Comment